Google+ Followers

शनिवार, 31 मई 2014

आज रब से मुलाकात की 
थोड़ी सी आपके बारे में बात की 
मैने कहा क्या साथी हे 
क्या क़िस्मत पाई हें
रब ने कहा संभाल के रखना 
मेरी पसंद हे जो तुम्हारे हिस्से में आई हे

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें